हाॅलिवुड फाॅरिन् प्रेस अॅसोसियेशन् (अॅच. अॅफ्. पी. ए.) का मनोरंजन राजधानी के लिए ७१ वर्षों से प्रसारण

by HFPA April 24, 2014

Jennifer Lawrence receives Golden Globe from Tom Hanks and Sandra Bullock

HFPA

पिछले २० वर्षों से हाॅलिवुड फाॅरिन् प्रेस अॅसोसियेशन् जैसे नाॅन्-प्राॅफिट (लाभ-रहित) संस्था के द्वारा हो रहे वार्षिक गोल्डन ग्लोब अॅवाॅर्ड पुरस्कार समारेह के ज़रिए १५ मिलियन् डाॅलर जुटाए गए हैं। इस संचित धनराशि को मनोरंजन से जुड़ी परोपकारी संस्थाओं व भावी फिल्म व टॅलॅविजन पेशेवरों को छात्रवृत्ति के रूप मे प्रदान किए गए हैं। २०१३ वर्श में यह अंश-दान की राशि बढ़कर १,५६७,६५० डाॅलर हो गई जो कि ५० विभिन्न मनोरंजन से सम्बन्धित नाॅन्-प्राॅफिट परोपकारी संस्थाओं को दी गई।

'गोल्डन ग्लोब अॅवाॅर्ड' पुरस्कार समारोह प्रति वर्ष जनवरी माह में अॅच. अॅफ्. पी. ए. द्वारा आयोजित किए जाते हैं तथा कई लाख डाॅलर अंश-दान के रूप में दिए जाते हैं। इस संस्था की स्थापना बहुत छोटे स्तर पर कुछ पत्रकारों द्वारा की गई थी। इस संस्था की स्थापना का उद्देष्य यही था कि मनोरंजन से सम्बन्धित समाचारों के हर पहलू को केवल निपुणता व सही ढंग से प्रसारित किया जाय।

इस संस्था का मूल आरंभ १९४१ में शुरु हुआ था जब, पर्ल हार्बर आक्रमण के कारण, अमरीका द्वितीय विश्व युद्ध से जुड़ गया था। बदलाव के लिए आतुर दर्शक सिनेमा में विकर्षण, कल्पना, प्रेरणा और मनोरंजन खोज रहे थे। उस समय ओर्सन वॅल्स, प्रेस्टन स्टर्जज़, डॅरिल ज़ेनुक् और मिशॅल कर्टिस् जैसे फिल्म निर्माणकर्ता दर्शकों की ज़रूरतों को पूरा करने का भरपूर प्रयास कर रहे थे। द्वितीय विश्व युद्ध के इस उथलपुथल के बीच संवाद की कठिनाई के कारण लाॅस् एॅन्जिलीज़ स्थित कुछ विदेशी पत्रकार एक दूसरे के साथ सम्बन्ध, सूचना आदि जुटाने के लिए जुड़ गए। यह कोई नया प्रयास नहीं था। इससे पहले भी १९२८ में हाॅलिवुड अॅसोसियेशन् ऑफ फाॅरिन् करस्पाॅन्डेटस् (हॅफ्को) व १९३५ में फाॅरिन् प्रेस सोसायटी का गठन हुआ था। दोनों ही समूह ज़्यादा समय नहीं टिक पाए, हालाकि कुछ दिनों के लिए हॅफ्को चर्चित रहा जब चारली चॅप्लिन्, मॅरी पिक्फोर्ड तथा अन्य मशहूर हस्तियों ने हाॅलिवुड रूज़वेल्ट होटॅल में हॅफ्को द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक उत्सव में भाग लिया।

१९४३ में "ब्रिटिश डेली मेल" के संवादाता के नेतृत्व में पत्रकारों ने हाॅलिवुड फाॅरिन करस्पाॅन्डॅन्टस् अॅसोसियेशन् (अॅच. अॅफ. पी. ए.) की स्थापना की और नारा दिया "धर्म व जाति के आधार पर बिना भेदभाव किए एकता"। यह बड़ा मुश्किल काम था क्योंकि फिल्म उद्योग ने विदेशी बाज़ारों के महत्व को समझा नहीं था। पहले संस्था के सदस्य अनौपचारिक रूप से एक दूसरे के घरों में मिला करते थे। जब सदस्यों की संख्या बढ़ी तब ज़्यादा बड़े तादाद पर सभाऐं आयोजित होने लगी जिसके फलस्वरूप हाॅलिवुड रूज़वॅल्ट होटॅल को सामूहिक कार्यक्रमों के लिए चुना गया। अॅच. अॅफ. पी. ए. का पहला विशेष भोज-समारोह दिसम्बर १९४७ में आयोजित किया गया जिसमे वाॅर्नर ब्रदर्स कम्पनी के प्रेसीडेंट, हॅरी वाॅर्नर को पुरसक्रृत किया गया।पुरस्कार इसीलिए दिया गया कि हॅरी वाॅर्नर "फ्रेन्डशिप ट्रेन" के प्रमुख प्रायोजक भी थे, और इस "फ्रेन्डशिप ट्रेन" के द्वारा हाॅलिवुड से यूरोप के ज़रूरतमन्द लोगों के लिए खाना, कपड़े और दवाइयाँ भेजी जाती थीं।

१९५० में विचारों में मतभेद होने के कारण संस्था दो संगठनों में विभाजित हुई - हाॅलिवुड फाॅरिन करस्पाॅन्डेन्टस् एसोसिएशन् और दूसरा फाॅरिन प्रेस अॅसोसियेशन् ऑफ हाॅलिवूड।

कुछ समय तक दोनो संस्थाएं चलती रहीं। एक संस्था गोल्डन ग्लोब अॅवाॅर्ड पुरस्कार को विधिवत् आयोजित करती तो दूसरी उनके प्रॅसिडॅन्ट हेन्री ग्रीस के नाम से हॅन्रियॅट्टा पुरस्कार को। इन दोनों संस्थाओं का अलगाव १९५५ में समाप्त हुआ जब सारे पत्रकार एकजुट हुए और हाॅलिवुड फाॅरिन प्रॅस अॅसोसियेशन (अॅच. अॅफ. पी. ए.) की पुनः स्थापना की गई जिसके तहत सुनियोजित योजनाएं तथा नई सदस्यताओं के नियम निश्चित किये गये।

'वर्ल्ड फेवरिटस्' पुरस्कार जैसे और नवीन योजनाओं के साथ अॅच. अॅफ. पी. ए. ने स्टूडियोज़ के साथ अपना एक विशेष स्थान बना लिया. यह पुरस्कार विश्व के ९०० से अधिक समाचारपत्रों, मैगज़िन और रेडियो स्टेशनों के द्वारा जनमतदान का परिणाम था। इस पुरस्कार से टोनी कर्टिस, मॅरलिन मन्रो तथा लॅज़ली कॅराॅन जैसे कलाकारों को सम्मानित किया गया। इस संस्था ने नए अन्दाज़ के साथ साक्षात्कारिक प्रीति-भोज का आयोजन ऐसे अभिनेताओं व अभिनेत्रिओं के साथ किया जो सदस्य-देशों के साथ फिल्म बनाने जा रहे थे।

अॅच. अॅफ. पी. ए. की चली आ रही परम्परा के तहत संस्था में 'मिस्' और 'मिस्टर' गोलडन ग्लोब पुरस्कार का वार्षिक समारोह में चयन किया जाता है जो लोकप्रिय कलाकारों के पुत्र या पुत्री होने के अलावा गोल्डन ग्लोब समारोह के कार्यों में अपना योगदान भी देते हैं। पहले जिनको "मिस गोल्डन ग्लोब" उपाधि से सम्मानित किया गया वो कुछ नाम हैं - लाॅरा डर्न् (ब्रूस डर्न और डायना लॅड की पुत्री), जोली फिशर (अॅडि फिशर और काॅनी स्टिवॅन्स की पुत्री), मेलॅनी ग्रिफित् (टीपी हॅड्रन् की पुत्री) और लोरैन निकोलसन् (जॅक निकोलसन की पुत्री)।सन २०१२ में रेनी क्वाॅली (अॅन्डी मॅक्डाॅवॅल की पुत्री) सम्मानित हुईं। इससे पहले "मिस्टर गोलडन ग्लोब" पुरस्कार से सम्मानित किए जानेवालों में जाॅन क्लार्क गेबल तथा फ्रेडी प्रिन्स् ज्युनियर के नाम भी शामिल हैं।

जनवरी २०१४ में अॅच. अॅफ. पी. ए. ने अपनी ७१वी वर्षगाँठ हाॅलिवुड में मनाई। आज इसके सदस्य क़रीब ५५ देशों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं व जिनके २५ करोड़ से भी ज़्यादा अभिदाता हैं। इंग्लैन्ड का 'डेली टेलेग्राफ', फ्रान्स का 'ल फिगारो', इटली का 'एल एस्प्रेसो', जर्मनी की 'वोग' मैगज़िन, 'चाईना टाईम्स्', ब्राज़िल का वेब पोर्टल 'यूओल' तथा अर्बी मैगज़िन 'कुल अल् ओसरा' जैसे प्रमुख समाचारपत्र, पत्रिकाएं उनके प्रकाशन से छपकर यूरोप, एशिया, नयू ज़ीलैन्ड, ऑस्ट्रेलिया, लैटिन अमरीका इत्यादि जगहों पर वितरित होती हैं।

प्रतिवर्ष अॅच. अॅफ. पी. ए. के सदस्य सम्वाद्-दाता ४०० से अधिक अभिनेताओं, अभिनेत्रिओं, निर्देशकों, लेखकों, निर्माताओं से साक्षात्कार लेते हैं, फिल्म सैट के समाचार भी देते हैं और ३०० से ज़्यादा फिल्मों को देखकर रिपोर्ट भेजते हैं।

विदेशी भाषी सिनेमा के निर्देशकों, अभिनेताों, अभिनेत्रिओं, ज्युरी के सदस्यों तथा पत्रकारों के साथ सांस्कृतिक सम्बन्ध स्थापित करने के लिए नवीनतम् और रूचिकर विदेशी भाषी फिल्म समारोह देखने के लिए अॅच. अॅफ. पी. ए. के सदस्य विभिन्न देशों में जाते हैं। संस्था की सदस्य-सभा हर महीने होती है। अफ्सरों और संचालकों का चुनाव प्रतिवर्ष होता है। उसी तरह प्रतिवर्ष पाँच पत्रकारों को सदस्यता भी दी जाती है। हर सदस्य को मोशन पिक्चर एसोसियेशन ऑफ अमरीका द्वारा मान्यता दी जाती है।

अन्तर्राष्ट्रीय फिल्मों की लोकप्रियता बढ़ने के साथ साथ 'गोल्डन ग्लोब अॅवाॅर्डस'' पुरस्कार की प्रतिष्ठा भी बढ़ गई है।टॅलॅविजन पर प्रदर्शित विश्व के सर्वाधिक लोकप्रिय तीन पुरस्कार समारोह में 'गोल्डन ग्लोब अॅवाॅर्ड' पुरस्कार आज गिना जाता है।